khullam khulla

Just another weblog

14 Posts

11 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 10410 postid : 15

gairat

Posted On: 18 Nov, 2012 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

मेरा गैरत ए मेरा शर , कभी jhukane नहीं देगा . जहां जीने नहीं देगा , खुदा मरने नहीं देगा !! isee उलझन me ji ता हु कभी, haalaat सुधरेगे, ए उलझन चैन से हमको कभी सोने नहीं देगा .!! mai बाजी haar जाता हु, जिताने के लिए उनको , मेरी खामोशी ए ehasaas उन्हें होने नहीं देगा !! बगावत है मेरी आदत , मगर मुर्दों की बस्ती है . बगावत चाहू जो करना कोई करने नहीं देगा !! बैठ कर aasamaa पर sab जमी की बात करते है , हसना चाहता हु पर कोई हँसने नहीं देगा !!

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

mayankkumar के द्वारा
November 18, 2012

आप का दर्द आपके छन्द में खूब उभरा है ……. सधन्यवाद ……… हमारे पते पर भी जाएँ …. :)


topic of the week



latest from jagran